स्मार्ट सिटी पर निबंध

Smart City Essay in Hindi हमारे भारत के सबके लोकप्रिय प्रधामंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का मिशन है स्मार्ट सिटी बने भारत तो हमे इसको उनके साथ मिलकर इस स्मार्ट सिटी मिशन को सफलतापूर्वक बनाना होगा| हमने यह स्मार्ट सिटी पर निबंध लिखा है और यह सभी कक्षा के लिए बहुत उपयोगी है जैसे:- 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10,11 एवं 12 तो चलिए अब निचे की और स्मार्ट का एस्से पढ़ते है|

Smart City Essay in Hindi 100 Words

स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात भारत में हर क्षेत्र में उन्नति की है और इसी का नतीजा है कि आज हमने न सिर्फ वैश्विक स्तर पर अपनी पहचान बनाने में सफलता प्राप्त की है, बल्कि हमारा देश तेजी से विकसित देशों की श्रेणी में भी आता जा रहा है| ऐसे में दुनिया के चंद विकसित देशों की तरह यहां भी ऐसे शहरों का होना आवश्यक हो जाता, जहां रहने वाले तमाम लोगों की सभी जरूरतें स्मार्ट तरीके से पूर्ण की जा सकें| हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले से अपने पहले भाषण में देश के 100 शहरों को स्मार्ट सिटी बनाने की घोषणा की थी और वर्ष 2014 के बजट में इसके लिए 7000 करोड रुपए से अधिक आवंटित भी किए जा चुके हैं|

Smart City Essay in Hindi 200 Words

प्रधानमंत्री की इस परियोजना हेतु केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय द्वारा जारी किए गए कांसेप्ट नोट में इस परियोजना के लिए 40 लाख या इससे अधिक आबादी वाले 9 सैटेलाइट शेयरों, 10 लाख से 40 लाख आबादी वाले 40 शहरों, 5 से 10 लाख आबादी वाले 20 शहरों, सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों की राजधानियों के अंतर्गत आने वाले 17 शहरों सहित पर्यटन में धार्मिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण 10 शहरों को चुने जाने की बात कही गई है|

Smart City Essay in Hindi Language
स्मार्ट सिटी पर निबंध – Smart City Essay in Hindi Language

प्रधानमंत्री का विजन बड़े शहरों के नजदीक स्थित छोटे शहरों एवं मौजूदा शहरों में आधुनिक सुविधाएं स्थापित कर उन्हें स्मार्ट सिटीज के रुप में विकसित करने का है | इस महत्वपूर्ण गतिविधि को अहमियत देने के लिए मैं चालू वित्त वर्ष में 7060 करोड़ की राशि प्रदान करता हूं| इस राशि से दिल्ली, गुड़गांव, फरीदाबाद, इलाहाबाद, कानपुर, लखनऊ, वाराणसी, देहरादून, हरिद्वार, बोधगया, भोपाल, इंदौर, जयपुर व अजमेर को स्मार्ट सिटी में परिवर्तित करने की योजना है |

Smart City Essay in Hindi 300 Words

इस परियोजना में निवेश को लेकर कई देशों ने रुचि भी दिखाई है ; जैसे जापान वाराणसी को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करना चाहता है, वही कतर के प्रिंस डॉ शेख हमद बिन नासिर अल थानी ने दिल्ली को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए 100 अरब रुपए निवेश करने की योजना बनाई है| डॉ शेख की कंपनी, जिनके पार्टनर दिल्ली के मितेश शर्मा भी हैं, देश में स्मार्ट शहरों के निर्माण हेतु एक लाख करोड रुपए निवेश करेगी|

भौतिक बुनियादी ढांचे, सामाजिक सेवाएं और प्रशासन, यह स्मार्ट सिटी के तीन आधारभूत स्तंभ माने जाते हैं| स्मार्ट सिटीवासियों की छोटी-बड़ी सभी आवश्यकता को समुचित रुप से पूर्ण करने के लिए जन-केंद्रित इन तीन स्तंभों का होना बहुत आवश्यक है, किंतु इसके साथ-साथ स्मार्ट सिटीज में मांग प्रबंधन, वित्तीय  टिकाऊपन, ऊर्जा कुशलता, सूचनाओं के आदान प्रदान की प्रभावी व्यवस्था सहित न्यूनतम कचरा उत्पादन जैसी विशेषताओं का होना भी आवश्यक है|

देश में बड़ी संख्या में स्मार्ट सिटी से स्थापित करने से निसंदेह भारत को विकसित देशों की ओर अग्रसर होने में मदद मिलेगी और देश में नए सिरे से रोजगार के अवसर भी खुलेंगे, पर हमारे देश में इस परियोजनाओं को मुख्य रूप देने में कई चुनौतियां भी हैं, जिनका सामना किए बिना सपनों के शहर बसाना आसान नहीं है| निर्माण से जुड़े कई विशेषज्ञों का कहना है कि भारत जैसे देश में स्मार्ट सिटीज हेतु कानून में परिवर्तन के साथ साथ तकनीकी संबंधी सभी क्षेत्रों में भी काफी परिवर्तन व सुधार लाने की आवश्यकता है | इतना ही नहीं ऊर्जा प्रबंधन, कचरा प्रबंधन जैसे विषयों पर भी गंभीरतापूर्वक कार्य करना आवश्यक होगा| इंटरनेट के माध्यम से की जाने वाली सूचनाओं के आदान प्रदान का दुरूपयोग ना हो ऐसी व्यवस्था बनानी होगी|

Smart City Essay in Hindi 400 Words

स्मार्ट सिटी में रहने के लिए देशवासियों को भी हर स्तर पर खुद को स्मार्ट बनाना होगा | इन सब चुनौतियों का सामना कर और सभी बाधाओं को दूर कर स्मार्ट सिटी परियोजनाओं को पूर्ण करने में भारत पूर्ण:त सक्षम है | यदि देश का प्रत्येक नागरिक, सरकार के इस ड्रीम प्रोजेक्ट में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से सहयोग दें तो निश्चित ही अगले दो दशकों में देश में सबसे अधिक स्मार्ट सिटीज़ होंगी और भारत विकसित राष्ट्र की श्रेणी में आ जाएगा |

स्मार्ट सिटीज़ सामान्य शहरों से कई मायनों में अलग है| सामान्य शहरों में रोजगार सृजन की क्षमता में निवेश के अवसर कम होते हैं, जबकि स्मार्ट सिटीज में कारोबार व गुणवत्तापरक जीवन के कारण तीव्र प्रतिस्पर्धा की स्थिति मौजूद रहती है | सामान्य शहरों में शिक्षा, स्वास्थ्य, मनोरंजन, सुरक्षा , यातायात आदि कि सुविधाएं अपेक्षाकृत कम रहती है, वही वाईफाई इंटरनेट जैसी आधुनिक तकनीक से लैस स्मार्ट सिटीज़ में विश्वस्तरीय अस्पताल, स्कूल-कॉलेज, गैस पाइपलाइन, 24 घंटे प्री-पेड बिजली-पानी की सुविधाएं सहित परिवहन, खेलकूद एवं मनोरंजन की भी अति उत्तम व्यवस्था रहती है और पूरा क्षेत्र CCTV की निगरानी में रहता है| सामान्य शहरों के निवासी अपनी विविध आवश्यकताओं की पूर्ति करने के दौरान पर्यावरण  प्रदूषण जैसे संकट में ध्यान नहीं देते, जबकी स्मार्ट सिटीज़ के लोग संतुलित जीवन शैली को अपनाकर प्राइवेट में पर्यावरण को महत्व देते हुए न्यूनतम कचरे का उत्पादन करते हैं|स्मार्ट सिटी योजना इन हिंदी  

सामान्य शहरवासी बिजली-पानी में अन्य संसाधनों के इस्तेमाल पर अत्यधिक लापरवाही बरतते हैं, जबकि स्मार्ट सिटीज़ के निवासी बिजली-पानी की बर्बादी पर ध्यान देने के साथ ही साथ अतिरिक्त संसाधनों पर निवेश करने से पहले यह भी देखते हैं कि पहले से उपलब्ध चीजों को कैसे बेहतर उपयोग किया जा सके| स्मार्ट सिटीज की परिवहन प्रणाली भी सामान्य शहरों से काफी अच्छी व सुविधाजनक होती है| सामान्य शहरों में अधिक आबादी और दिनों-दिन वाहनों की बढ़ती संख्या के कारण वायु प्रदूषण जैसी समस्याओं के साथ-साथ ट्रैफ़िक जाम की समस्या तेजी से बढ़ती जा रही है, जबकि स्मार्ट सिटीज़ में ऐसी समस्या नहीं होती| सामान्य शहरों में जहां-तहां झुग्गी झोपड़ी देखी जा सकती है, वही स्मार्ट सिटीज़ इनसे पूरी मुक्त होती है| स्मार्ट सिटी मिशनइन हिंदी

Note :- Smart City Essay in Hindi अगर आपको हमारा स्मार्ट सिटी पर निबंध लिखा हुआ अच्छा लगा हो तो आप इस निबंध को अवश्य और लोगो तक भी शेयर करे |

यँहा संबंधित निबंध पढ़ें :-

  1. नरेंद्र मोदी पर निबंध
  2. स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध
  3. मेक इन इंडिया पर निबंध
  4. वस्तु एवं सेवा कर पर निबंध

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here